स्वच्छ भारत के अंतर्गत पॉलीथिन पर प्रतिबंध

पकड़े जाने पर दण्ड का भी प्रावधान

...

*स्वच्छ भारत के अंतर्गत पॉलीथिन पर प्रतिबंध पर नगर पंचायत भगवंत नगर द्वारा स्वच्छता गोष्ठी का आयोजन* *संवाददाता अमितकुमार* भगवंतनगर/उन्नाव: चेयरमैन प्रतिनिधि आशीष शुक्ला की अध्यक्षता में सभा का आयोजन किया गया। जिसके मुख्य अतिथि एस. डी. एम बीघापुर प्रभुदयाल थे।जिसमे पॉलीथिन बन्द के तहत जानकारी दी गयी।इसके उपरांत एस. डी. एम महोदय ने पॉलीथिन के लाभ ,हानि के बारे में व्यपारियो को जानकारी दी उन्होंने बताया कि पॉलीथिन हमारे लिए कितनी नुकसानदायक है व बताया कि पॉलीथिन को नष्ट नही किया जा सकता आगे इसको जलाया जाता है तो इससे बहुत ज्यादा वातावरण अशुद्ध होता है न ही पॉलीथिन को भूमि के नीचे दबाकर नस्ट किया जा सकता है । जानवरो के लिए बहुत नुकसान दायक है।उन्होंने बताया कि अगर इन सबके बावजूद भी अगर लोग नही मानेंगे तो उसके लिए सरकार द्वारा सजा का प्रावधान है जिसमे पहली बार पकड़े जाने पर 500 रु का दंड ,दूसरी बार पकड़े जाने पर 1000 रु का दंड व् 1साल का कारावास । व्यपारियो एवं सभी नगरवासियो से कहा कि आप सभी के सहयोग से ही ऐसा हो सकता है। उन्होंने बताया कि 50mm की पन्नी से ऊपर की मोटी पन्नी प्रतिबंधित कर दी गई है ।उन्होंने ये भी बताया कि 2अक्टूबर से खुले में शौच करने वालो के ऊपर नगरपंचायत द्वारा सख्त कार्यवाही किये जाने की सुचना दी ये भी जानकारी दी की 15 अगस्त से पानी ग्लास,चाय ग्लास थर्माकोल के पत्तल आदि प्रतिबंधित कर दिए जाएंगे।