आतंक का पर्याय, 50 हज़ार का ईनामी रईस बनारसी संग दो ढेर

कानपुर में चर्चित शानू ओलंगा समेत आधा दर्जन से ज्यादा हत्याओं में शामिल था।

...

*दहल उठा बनारस जब चली नई सड़क पर गोलियां, और हुआ 50 हज़ार का ईनामी रईस बनारसी ढेर* बनारस। दशाश्वमेध थाना क्षेत्र के लंगड़ा हाफ़िज़ मस्जिद के पास गोली से घायल होने के बाद इलाज के दौरान 50 हज़ार के इनामिया रईस बनारसी की मौत। मौके पर पहुंचे पुलिस के आला अधिकारी मृतक की शिनाख्त रईस बनारसी के रूप में कई है। उसके ऊपर उत्तर प्रदेश पुलिस ने 50 हज़ार का इनाम घोषित कर रखा है। देर शाम गोलियों से घायल हुआ रईस नई सड़क क्षेत्र की प्रसिद्द मस्जिद लंगड़े हाफ़िज़ में लहूलुहान होकर घुसा था।जिसे मस्जिद के लोगों और स्थानीय ने तुरंत कबीरचौरा अस्पताल पहुंचाया जहां उसकी इलाज के दौरान मौत हो गयी। शुक्रवार की देर शाम दशाश्वमेध थानाक्षेत्र के लंगड़ा हाफिज मस्जिद के पास दो गैंगों के बीच चली गोली से भगदड़ का माहौल बन गया। गोली की आवाज़ से लोग इधर उधर भागने लगे। वही रईस बनारसी खून से लहुलुहान होकर लंगड़े हाफ़िज़ मस्जिद में घुस गया और फर्श पर गिर गया। तुरंत स्थानीय लोगों ने उसे कबीर चौरा अस्पताल पहुंचाया जहां इलाज के दौरान उसकी मृत्यु हो गयी।सूचनाओं के आधार पर मरने वाला शख्स अपराध की दुनिया में मज़बूती से आगे बढ़ रहा रईस बनारसी ही है। गौरतलब है कि अपराध का पर्याय रईस बनारसी कानपुर में चर्चित शानू ओलंगा समेत आधा दर्जन से ज्यादा हत्याओं में शामिल था। प्रदेश की पुलिस के लिए सिरदर्द बना यूपी का चर्चित बदमाश रईस सिद्दीकी उर्फ रईस बनारसी 22 अक्टूबर को बनारस की जिला जेल से बरेली शिफ्ट करते वक्त रास्ते में पुलिस वैन से कूदकर भाग निकला था। रईस को 22 अक्टूबर की दोपहर बनारस से पुलिस बल के साथ बरेली की जेल में शिफ्ट करने के लिए भेजा गया था।