विद्युत विभाग की लापरवाही ने ले ली अप्रवासी युवक की जान

बीती 8 जुलाई को चार वर्ष बाद लौट कर आया था स्वदेश

...

दीपक मिश्रा विद्युत विभाग की लापरवाही ने ले ली अप्रवासी युवक की जान बीती 8 जुलाई को चार वर्ष बाद लौट कर आया था स्वदेश भगवंतनगर(उन्नाव)। विद्युत विभाग की लापरवाही ने रविवार को एक अप्रवासी भारतीय की जान ले ली। युवक अपने घर से कहीं जाने के लिए निकल था। घर के करीब ही खेत में रखे ट्रांसफार्मर के सपोर्ट में लगे पोल के कसाव के लिए लोहे के तार लगे हैं जिसमे उलझ कर वह करेंट की चपेट में आया था। सूचना के बाद पहुची भगवंतनगर चौकी पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा है। घटना थाना बिहार के ग्राम पंचायत प़नई खुर्द में रविवार को घटित हुई। यहाँ के निवासी अप्रवासी भारतीय युवक उमेश निर्मल(33) वर्ष पुत्र स्वर्गीय बाबूलाल की गांव के बाहर रखें ट्रांसफार्मर के तार से चिपक कर मौत हो गई। मृतक के बड़े भाई मुकेश ने बताया कि शनिवार को गांव के बाहर रखे ट्रांसफार्मर मे कुछ फॉल्ट था। जिसकी शिकायत उसने भगवंत नगर पावर हाउस ऑपरेटर धर्मेश को की थी। परंतु उपकेंद्र कर्मियों ने बिना लाइन सही किए हुए ही रात में लाइन चालू कर दी थी। मुकेश के अनुसार रविवार सुबह लगभग 11 बजे उमेश घर से कहीं जाने के लिए निकला था। थोड़ी ही देर बाद गांव के ही शाहिद अली दौड़ कर आए और बताया की उमेश ट्रांसफार्मर के तार से चिपक कर गिर गया है। सूचना पाकर सभी परिजन उसी और दौड़े और देखा कि उमेश ट्रांसफार्मर के पास ही अचेत पड़ा है। मुकेश के अनुसार उसने तत्काल जेई व उपकेंद्र की फोन मिलाया लेकिन संपर्क नहीं हो सका। बाद में लाइनमैन धर्मेंद्र से बात होने के बाद लाइन बंद हुई। लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी थी। ग्रामीणों का आरोप है कि विद्युत विभाग की इस लापरवाही से उमेश की जान चली गई। जिसका आक्रोश ग्रामवासियों में दिखाई दे रहा था। मौके पर पहुंच कर पुलिस चौकी प्रभारी भगवंत नगर ने उमेश के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। परिवार पर हुआ वज्रपात उमेश निर्मल विदेश में रहता था। वह 8 जुलाई को 4 वर्ष बाद वापस घर आया था। घर में खुशी का माहौल था। लेकिन यह खुशियां ज्यादा दिन नहीं टिक सकी। दुर्घटना में उमेश की मौत के बाद परिवार का रो रो कर बुरा हाल है। उमेश के परिवार में पत्नी अंजू बेटा आयुष एवं बेटी महक है।