वर्चस्व की भेंट चढ़ा "मिड-डे-मील"

*प्रधान शिक्षक और सभासद के आपसी विवाद की भेंट चढा मध्यान्ह भोजन*

...

*भगवंतनगर उन्नाव:- दीपक मिश्रा की रिपोर्ट। * प्राप्त जानकारी के अनुसार भगवंत नगर विकास क्षेत्र सुमेरपुर उन्नाव के उ0प्रा0वि0 के प्रधान शिक्षक गोकुल प्रसाद शुक्ला का कहना है कि वार्ड नं0 7 की सभासद रेखा पांडे विद्यालय की एम•डी•एम• को संचालित नही करने दे रही है,जिसके तहत बच्चो को खाना नही मिल पा रहा है।गत दिनांक 29/4/2018 को मेरे कार्यालय में पति पत्नी सहित आकर मुझसे झगड़ा करने लगी और गुस्से में आकर मुझे मारने झपटे और गुस्से में आकर मध्यान्ह भोजन का रजिस्टर को उठाकर फेक दिया और मुझे धमकाया व् डराया तथा सरकारी कार्य में बाधा पहुचाई।यह भी कहा कि मुझे हर माह 8000 रु• एम•डी•एम• से चाहिए अन्यथा की स्थिति में मैं खाना नही बनने दूंगी। प्रधान शिक्षक ने आगे बताया कि इस बात की सूचना मैंने पुलिस चौकी भगवंतनगर ,श्रीमान जिलाधिकारी महोदय व् श्रीमान शिक्षा अधिकारी सुमेरपुर को रजिस्टर्ड डाक से दी। इसके उपरांत आज तक किसी भी प्रकार की कोई जाँच नही की गई।वहीं इस मामले में सभासद रेखा पांडे का कहना है कि विद्यालय के प्रधानाध्यापक गोकुल प्रसाद से जब भी किसी प्रकार की जानकारी लेनी चाही तो उनका जवाब यह आता है कि तुम कौन हो यह सब पूछने वाली जो कुछ हूँ वो मैं हूँ। जो मैं चाहूंगा वही होगा। सभासद ने आरोप लगाते हुए कहा कि शासन द्वारा मध्यान्ह भोजन के लिए नई नई और भी योजनाये लागु की गई।लेकिन सभी कागजो में ही सिमट कर रह गई। विद्यालय में दूध ,फल आदि आते है वो भी बच्चो को नही दिए जाते । छात्र संख्या को इधर उधर करके कागजो में घालमेल किया जाता है। आगे बताया कि प्रधानाध्यापक महोदय ने कई बार फोन करके मुझे बुलाया। जब मैं विद्यालय गई तो कहा कि चेक पर हस्त्ताक्षर कर दो। मैंने कहा कि मुझे रजिस्टर तथा बाउचर दिखाओ तो मैं हस्त्ताक्षर करूँगी अन्यथा नहीं करुँगी। और मुझे 2500 रु रिश्वत देने की कोशिश की मैंने रु•लेने से भी इंकार कर दिया मेरा इतना जवाब सुनते ही गोकुल प्रसाद शुक्ला मुझसे विवाद करने लगे और अपशब्दों का प्रयोग करने लगे। जिसकी शिकायत मैंने पुलिस चौकी भगवंतनगर और खंड शिक्षा अधिकारी से की। अब बड़ा सवाल यह उठता है कि प्रधानाध्यापक और सभासद द्वारा इसकी लिखित शिकायत दी गई लेकिन फिर भी कोई जाँच क्यों नही की गई ये भी एक जाँच का विषय है।